15 सितंबर 2021 को गुरु का मकर राशि में गोचर: राशियों पर प्रभाव और उपाय

facebook posts


सरणी

मेष: 21 मार्च – 19 अप्रैल

नौकरीपेशा जातकों के लिए समय अच्छा रहेगा। आर्थिक स्थिति में सुधार की उम्मीद है। कारोबारियों को भी लाभ मिलेगा। अपने स्वास्थ्य के बारे में सावधान रहें। इस दौरान आपके मान-सम्मान में वृद्धि होगी।

निदान: बजरंगबली की प्रतिदिन पूजा करना आपके लिए फलदायी रहेगा।

सरणी

वृष: 20 अप्रैल – 20 मई

वृष राशि वालों को भाग्य का पूरा सहयोग मिलेगा। बेरोजगार लोगों को अच्छे अवसर मिल सकते हैं। आर्थिक स्थिति बेहतर होगी। आमदनी के नए रास्ते मिलेंगे। इस अवधि में रुके हुए कार्य पूरे कर लिए जाएंगे। धार्मिक कार्यों में व्यस्त हो सकते हैं।

निदान: आपको प्रतिदिन देवी लक्ष्मी की पूजा करने की सलाह दी जाती है।

सरणी

मिथुन: 21 मई – 20 जून

मिथुन राशि के लिए यह समय मिलाजुला रहेगा। नौकरीपेशा लोगों को कुछ परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। वहीं आपको किसी यात्रा पर भी जाना पड़ सकता है, जिसके लिए आपको कोई विशेष लाभ नहीं मिलेगा। हालाँकि, आपको कुछ बेहतरीन अवसर मिल सकते हैं। वहीं आपके प्रेम जीवन के मधुर होने की प्रबल संभावना है।

निदान: इस राशि के लोगों को महादेव की पूजा करनी चाहिए।

सरणी

कर्क: 21 जून – 22 जुलाई

नौकरीपेशा जातकों और कारोबारियों के लिए समय अच्छा रहेगा। दाम्पत्य जीवन में अनुकूलता रहेगी। आपको निवेश से बचने की जरूरत है। इस दौरान आपको पैसों से जुड़े फैसले सोच-समझकर लेने चाहिए।

निदान: आप महामृत्युंजय मंत्र की माला का जाप अवश्य करें, लाभ अवश्य होगा।

सरणी

सिंह: 23 जुलाई – 22 अगस्त

सिंह राशि वालों के लिए यह समय कुछ खास नहीं रहेगा। इस दौरान आपके विरोधी सक्रिय रहेंगे। दाम्पत्य जीवन में सामंजस्य बिगड़ सकता है। सेहत को लेकर लापरवाही भारी पड़ सकती है। आपको दूसरों के मामलों में दखल देने से बचना होगा।

निदान: अच्छे परिणाम पाने के लिए आपको सत्यनारायण भगवान का पाठ करना चाहिए।

सरणी

कन्या: 23 अगस्त – 22 सितंबर

कन्या राशि के लिए यह समय अच्छा रहेगा। कार्यक्षेत्र में आपको वाहवाही मिलेगी। पैसा निवेश करने के लिए समय अच्छा है। व्यवसायियों को भी लाभ मिल सकता है।

निदान: इस दौरान आपको बजरंग बाण का पाठ करने की सलाह दी जाती है।

सरणी

तुला: 23 सितंबर – 22 अक्टूबर

करियर का कोई बेहतरीन मौका आपको मिल सकता है, जिसका आप काफी समय से इंतजार कर रहे थे। पैतृक संपत्ति से लाभ की उम्मीद है। कारोबारियों को सावधान रहने की सलाह दी गई है। सेहत के लिहाज से यह समय कुछ खास नहीं है।

निदान: भगवान शंकर के पंचाक्षरी मंत्र का जाप करने से आपको लाभ होगा।

सरणी

वृश्चिक: 23 अक्टूबर – 21 नवंबर

इस राशि के जातकों के लिए यह समय उतार-चढ़ाव भरा हो सकता है। आपको इस अवधि के दौरान अपने गुस्से पर नियंत्रण रखने की सलाह दी जाती है। आर्थिक दृष्टि से भी यह समय अच्छा नहीं है। आपके खर्चे बढ़ेंगे, जिससे बजट खराब होगा। उधारी भी आ सकती है। इस दौरान आपको अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है।

निदान: इस स्थिति से शीघ्र मुक्ति पाने के लिए आपको प्रतिदिन श्री हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए।

सरणी

धनु: 22 नवंबर – 21 दिसंबर

धनु की आर्थिक स्थिति में बड़ा सुधार होगा। आप अपने कर्ज का भुगतान भी करने में सक्षम होंगे। परिवार में किसी बात को लेकर तनाव हो सकता है। आपको अपनी वाणी पर नियंत्रण रखना होगा अन्यथा आप किसी का दिल दुखा सकते हैं।

निदान: इस दौरान आपको भगवान विष्णु की पूजा करनी चाहिए।

सरणी

मकर: 22 दिसंबर – 19 जनवरी

गुरु का यह गोचर आपकी ही राशि में होने वाला है। इस परिवर्तन से आपको प्रतिकूल प्रभाव का सामना करना पड़ सकता है। आपके भौतिक सुखों में कमी आ सकती है। आपको अति आत्मविश्वास से बचने की सलाह दी जाती है। हालांकि निवेश के लिए यह समय अच्छा रहेगा।

निदान: इस दौरान आपको सुंदरकांड का पाठ करने की सलाह दी जाती है।

सरणी

कुंभ: 20 जनवरी – 18 फरवरी

इस दौरान आपके ख़र्चों में वृद्धि हो सकती है लेकिन आय में कोई कमी नहीं होगी। पूर्व में किए गए निवेश से भी धन की प्राप्ति हो सकती है। कारोबारियों के लिए यह समय अच्छा नहीं रहेगा। आपको अपनी योजना बदलने की जरूरत है।

निदान: आपको प्रतिदिन शिव चालीसा का पाठ करना चाहिए।

सरणी

मीन: 19 फरवरी – 20 मार्च

मीन राशि के लिए बृहस्पति का यह गोचर फलदायी साबित होगा। आर्थिक स्थिति बहुत मजबूत होगी। शादी से जुड़ी चर्चाएं नतीजे पर पहुंचेंगी। इस दौरान आप कोई नया काम भी शुरू कर सकते हैं।

निदान: आपको प्रतिदिन राम रक्षास्त्रोत का पाठ करना चाहिए।

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *